You are here
Home > UPPCS > Essay ki taiyari kaise karein

Essay ki taiyari kaise karein

Essay ki taiyari kaise karein

Essay ki taiyari kaise karein

निबंध की तैयारी कैसे करें

निबंध कैसे लिखें Essay ki taiyari kaise karein  इस प्रश्न का उgrrrत्तर जानने से पहले हमें यह जानने की आवश्यकता है कि निबंध होता क्या है और इसे लिखने के लिए हमें किन बातों का ध्यान रखने की आवश्यकता है किस तरह की पुस्तक पढनी चाहिए और निबंध लिखने में पारंगत होने में हमें कितना समय लग सकता है वह भी तब जब आपने अभी तक कुछ भी लिखने का प्रयास नहीं किया है। तो चलिए जान लेते हैं।
Essay ki taiyari kaise karein
निबंध की तैयारी कैसे करें
 निबंध का संधि विच्छेद किया जाए तो हमें मिलता है नि+बंध अर्थात जो बंधा हुआ न हो IAS PCS की परीक्षाओं में यही एक ऐसा प्रश्न पत्र होता है जहाँ आपको पूर्ण स्वतंत्रता मिलती है लेकिन कुछ शर्तों के साथ ,  Confused है ना?
कभी चिड़ियाघर गए होंगे तब वहाँ आपने शेर और अन्य जानवरों देखे होंगे सबका अपना अपना बाड़ा होता है उस बाड़े के अन्दर शेर को पूरी आजादी रहती है लेकिन वह उस बाड़े के बाहर नहीं आ सकता। मतलब वह बंधा हुआ नहीं है घूम सकता है लेकिन बाहर नहीं आ सकता।
ठीक इसी प्रकार आयोग निबंध के प्रश्न पत्र में आपको आपके विचारों को व्यक्त करने की पूरी स्वतंत्रता देता है किन्तु कुछ शब्दों का बंधन भी दे देता है ।
आपका मनोबल बढाने के लिए और इस विषय की घबराहट को कम करने के लिए मैं आपको बताना चाहता हूँ कि आप कुछ भी लिख कर आ जाइये निबंध गलत नहीं कहा जाएगा जी हाँ दोस्तों निबंध गलत या सही नहीं हुआ करते बल्कि निबंध बहुत अच्छे , अच्छे , मध्यम स्तर के या खराब अथवा बुरे होते हैं।
इसलिए घबराहट को दीजिये तिलांजली और आत्मविश्वास के साथ आज से ही निबंध लेखन की तैयारी  शुरू कर दीजिये।

क्या चाहता है आयोग/Essay ki taiyari kaise karein

आयोग निबंथ के आपसे क्या चाहता है यह जान लेना भी बहुत महत्वपूर्ण है इसके लिए मैं आपसे बताना चाहूँगा कि  आयोग के द्वारा आपको सीधे तौर पर निर्देश दे देता है पाठ्यक्रम के माध्यम से कि
उम्मीदवार को  एक विनिर्दिष्ट विषय पर निबंध लिखना होगा। विषयों के विकल्प दिए जाएँगे । उनसे आशा की जाती है कि अपने विचारों को निबंध के विषय के निकट रखते हुए क्रमबद्ध करें तथा संक्षेप में लिखें । प्रभावशाली एवं सटीक अभिव्यक्तियों को श्रेय दिया जाएगा।
उपर्युक्त लाइनों को ध्यान से पढें इसमें साफ साफ निर्देश दिया गया है कि उम्मीदवार से ” आशा” की जाती है न कि अनिवार्य है ।
यह भी कहा गया है कि विषय के निकट रहते हुए , मतलब यह कि आपको जो भी विषय निबंध लिखने के लिए दिया गया है उसी के अनुरूप उसके बारे में ही बात करें उसी विषय के बारे में बात करें उसका पक्ष विपक्ष जो भी है वह लिखें ।
एक बात यह कही गई है कि क्रमबद्ध करें व संक्षेप में लिखें इसका अर्थ है कि आपको विषय के सभी पक्षों पर अपने विचारों को एक के बाद एक लिखने हैं और दोहराव से बचना होगा ।
अंत में यह कहा गया है कि प्रभावशाली एवं सटीक अभिव्यक्तियों को श्रेय दिया जाएगा यदि आप उपरोक्त बातों पर ध्यान दे देते हैं तो अभिव्यक्ति निस्संदेह प्रभावशाली एवं सटीक ही होगी।

निबंध का स्वरूप/ Essay ki taiyari kaise karein

दोस्तों निबंध का स्वरूप कैसा हो इस संबंध में अभ्यर्थी अक्सर प्रश्न पूछते रहते हैं यहाँ वहाँ आइये जानते है कि कैसा स्वरूप हो निबंध का ।
किसी विषय पर निबंध लिखते हुए आपको इसे तीन भागों में विभाजित कर लेना चाहिए ।
1- प्रस्तावना
2- मुख्य भाग
3- निष्कर्ष
प्रस्तावना में आप विषय के सम्बन्ध में बताएँ कि वह क्या है कैसे है क्यों है आदि इसकी शुरुआत आप दोहों से , कविता से , उद्धरण से या किसी उदाहरण से कर सकते हैं यदि वह उदाहरण वास्तविक जीवन का हो तो अधिक प्रभावी होता है । यहाँ यह ध्यान रखना होगा कि प्रस्तावना पूरे निबंध का 5 से 10 % ही रहे। प्रस्तावना को कुछ इस प्रकार लिखना चाहिए कि आप संपूर्ण निबंध में क्या कहने वाले हैं इसका भान पढ़ने वाले हो जाए।
अब बात करते हैं निबंध के उस भाग की जो निबंध की प्राण वायु है निबंध का मुख्य भाग।
इसमें आपको अपने संपूर्ण विचारों को क्रमबद्ध रूप में  लिखना होगा ।
इसके लिये आप निबंध के विषय को प्वाइन्ट में बाँट लीजिये
विषय का सामाजिक पहलू
विषय का राजनीतिक पहलू
विषय के आर्थिक पहलू आदि
आमतौर पर किसी भी विषय में इन तीनों पहलुओं को संभावना रहती है सभी पहलुओं पर आप जो भी लिखना चाह रहे हैं उसे संक्षिप्त रूप में अलग से लिख लीजिये। विषय के पक्ष में या विपक्ष में जो भी बातें आप लिखना चाहते हैं उन्हें लिख ले।
फिर सभी बातों को क्रम से लिखें ।
ध्यान रहे कि अब आपको प्वाइन्ट में नहीं बल्कि पैराग्राफ़ में लिखना है ।एक विचार एक पैराग्राफ़ में लिखें दूसरा विचार दूसरे पैराग्राफ़ में इसी प्रकार आगे लिखते जाएँ । अपनी बात को सिद्ध करने के लिए उदाहरण आदि का प्रयोग करें यह आपके निबंध को प्रभावशाली बना देगा सटीक तो आप लिख ही रहे हैं।
अंत में आपको निबंध का निष्कर्ष लिखना चाहिए यह भी  पूरे निबंध का 10% तक ही रहे तो बेहतर रहेगा । निष्कर्ष में आप पूरे विषय का सार लिखते हुए उसके सम्बन्ध में क्या किया जाना चाहिए सरकार क्या कदम उठा रही है लिखें या प्रासंगिक रूप में जो भी लिख सकते हैं लिखें ।
बस शब्द सीमा का ध्यान रखें ।

कैसे करें तैयारी/Essay ki taiyari kaise karein

एक अच्छा निबंध लिखने में आप एक या दो दिन में पारंगत नहीं हो सकते इसके लिए आपको निरंतर लिखते रहे की आवश्यकता होती है। अपने आस-पास हो रही घटनाओं को अपने शब्दों में लिखने का प्रयास करें या समाचार पत्र में प्रकाशित किसी राजनीतिक अथवा किसी अन्य क्षेत्र की घटना पर आपके मत में जो भी आए उसे लिखें जब तक आप लिखेंगे नहीं आपको लिखना नहीं आएगा।
पढ़ना भी एक अच्छे निबंध को लिखने में आवश्यक तत्व है इसलिए पढ़ने की आदत डालनी होगी आपको। नीचे कुछ महत्वपूर्ण पुस्तकों के नाम लिख रहा हूँ जिसे पढना बहुत ही आवश्यक है।
  • योजना 
  • कुरुक्षेत्र 
  • कादम्बिनी 
उपर्युक्त पुस्तकें प्रत्येक माह अलग-अलग महत्वपूर्ण विषयों पर प्रकाशित होती रहती हैं आप यह देखें कि कौन सा विषय ऐसा है जिस पर निबंध लिखने के लिए परीक्षा में आ सकता है उस पर विशेष ध्यान दें।
इन पुस्तकों में अपने क्षेत्र के महान व्यक्तित्व के द्वारा लेख लिखे जाते हैं उन्हें देखें लेकिन शब्दश: उनके विचारों को मत उठा लीजिये उन विचारों को अपने शब्द दीजिये।
सामान्य अध्ययन से सम्बंधित पुस्तकों का अध्ययन निबंध की दृष्टि से करना चाहिए ।
आशा करता हूँ यह जानकारी आपको अच्छी लगी होगी ।
कृपया पोस्ट को लाइक करें व थोड़ा कष्ट कर शेयर करें आपका सहयोग मेरे लिए उत्साह का कार्य करेगा।
यदि कुछ पूछना चाहें या कोई सुझाव हो तो कमेन्ट करके अनुगृहित अवश्य करें।
धन्यवाद ।
Print Friendly, PDF & Email
कोचिंग के फायदे और नुकसान

Leave a Reply

Top
%d bloggers like this: